HomeWorldInternational

‘पेट्रियट मिसाइल है बेकार, नहीं रोक पाएगी तबाही’, पुतिन ने धमकी के साथ दिए युद्ध खत्म करने के संकेत

‘पेट्रियट मिसाइल है बेकार, नहीं रोक पाएगी तबाही’, पुतिन ने धमकी के साथ दिए युद्ध खत्म करने के संकेत



रूस  
Russia-Ukraine War: यूक्रेन युद्ध के बीच पहली बार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पहली बार युद्ध खत्म करने को लेकर बड़ा संकेत दिया है। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने गुरुवार को कहा कि, रूस यूक्रेन में युद्ध का अंत चाहता है और इसमें अनिवार्य रूप से एक कूटनीतिक समाधान शामिल होगा। रूसी राष्ट्रपति की ये टिप्पणी उस वक्त आई है, जब यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमीर जेलेंस्की ने अमेरिका का दौरा किया है और अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित किया है।
 
‘जितना जल्दी युद्ध खत्म हो उतना अच्छा’
यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमीर जेलेंस्की ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात की है, इस दौरान अमेरिका ने 1.3 अरब डॉलर की सैन्य सहायता का ऐलान किया है और पहली बार अमेरिका अपना पैट्रियट मिसाइल भी यूक्रेन को सौंपने वाला है, जिसे यूक्रेन युद्ध के लिए गेमचेंजर माना जा रहा है। वहीं युद्ध को लेकर अब रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि, “हमारा लक्ष्य सैन्य संघर्ष के चक्का को घुमाना नहीं है, बल्कि इसके विपरीत इस युद्ध को समाप्त करना है।” उन्होंने कहा कि, “हम इसे खत्म करने का प्रयास करेंगे, और जितनी जल्दी ये खत्म होगा, निश्चित तौर पर ये उतना बेहतर होगा।”
 

पुतिन के बयान पर क्या बोला US?
वहीं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बयान पर व्हाइट हाउस प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि, पुतिन ने “बिल्कुल ज़ीरो संकेत दिखाया है, कि वो युद्ध के अंत के लिए बातचीत के लिए तैयार हैं।” आपको बता दें कि, रूस ने इस साल 24 फरवरी को यूक्रेन में अपनी सेना को उतार दिया था और भीषण हमलों के साथ युद्ध की शुरूआत की थी। वहीं, व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि, उन्होंने ‘बिल्कुल उल्टा’ करहा है। किर्बी ने एक ऑनलाइन ब्रीफिंग के दौरान संवाददाताओं से कहा कि, “सब कुछ वह (पुतिन) जमीन पर और हवा में कर रहे हैं और वो एक ऐसे व्यक्ति हैं, जो लगातार यूक्रेनी लोगों के साथ हिंसा कर रहे हैं और युद्ध को बढ़ावा दे रहे हैं।” जॉन किर्बी ने दोहराया कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, पुतिन के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन बातचीत करने के लिए रूसी नेता को गंभीरता दिखानी होगी और अगर यूक्रेन और उसके सहयोगी देश इसके लिए तैयार होते हैं।
 
बातचीत के रास्ते में रूकावट कहां?
रूस ने लगातार कहा है, कि उससे बातचीत के लिए रास्ता खुला हुआ है, लेकिन यूक्रेन और उसके सहयोगियों को रूस के पीछे हटने के पीछे शक दिखता है और उन्हें इसके पीछे रूस की चाल दिखती है, कि रूस युद्ध को और खींचने के लिए समय खरीद रहे हैं। रूस ने थोड़े-थोड़े अंतराल के बीच लगातार युद्ध को बढ़ावा दिया है और पिछले 10 महीनों से लगातार युद्ध को बढ़ावा दिया है। हालांकति. पुतिन ने संवाददाताओं से कहा कि, “मैंने कई बार कहा है, कि शत्रुता की तीव्रता से अनुचित नुकसान होता है।” रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि, ‘सभी तरह के संघर्ष आखिरकार कूटनीतिक ट्रैक पर ही बातचीत के साथ खत्म होते हैं, चाहे जल्दी या बाद में।’ उन्होंने कहा कि,’संघर्ष की स्थिति में कोई ना कोई पार्टी बातचीत के लिए बैठती है और किसी नतीजे पर पहुंचती है।’ पुतिन ने आगे कहा कि, “जितनी जल्दी यह अहसास उन लोगों को हो जाए, जो हमारा विरोध करते हैं, उतना ही बेहतर है। हमने इस पर कभी हार नहीं मानी है।” रूस का कहना है कि, यह यूक्रेन है जो बात करने से इनकार कर रहा है। वहीं, कीव का कहना है, कि रूस को अपने हमलों को रोकना चाहिए और अपने कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को छोड़ना चाहिए, तभी वो बातचीत के लिए तैयार होगा।
 
यूएस के पैट्रियट मिसाइल पर क्या बोले पुतिन?
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अमेरिकी पैट्रियट मिसाइल को भी उन परिस्थितियों के लिए कम महत्वपूर्ण कहा है। आपको बता दें कि, अमेरिका ने यूक्रेन को पैट्रियट मिसाइल देने की घोषणा की है, जो एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम है। इसको लेकर रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि, ‘रूस इसका मुकाबला करने के लिए कोई और तरीका खोजेगा।’ उन्होंने कहा कि, यह (पैट्रियट मिसाइस) “काफी पुराना” है और रूस के S-300 सिस्टम की तरह काम नहीं करता है। उन्होंने कहा कि, “इसका इलाज भी जल्द खोजा जाएगा।” उन्होंने कहा, रूस पर शेखी बघारना देशभक्तों को “दरार” करेगा। उन्होंने कहा कि, ‘जो लोग ऐसा कर रहे हैं (पैट्रियट मिसाइल दे रहे हैं), वो ऐसा व्यर्थ कर रहे हैं। ये सिर्फ युद्ध को और लंबा खींच रहा है। ये बस इतना ही है।’ पुतिन ने यह भी कहा कि, पश्चिमी देशों द्वारा रूसी तेल पर प्राइस कैप लगाई गई है, ताकि रूस को होने वाली कमाई पर रोक लगाई जा सके, लेकिन इससे रूसी अर्थव्यवस्था को नुकसान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि, वह रूस की प्रतिक्रिया निर्धारित करने के लिए अगले सप्ताह की शुरुआत में एक डिक्री पर हस्ताक्षर करेंगे।


Get all latest News in Hindi (हिंदी समाचार) related to politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and World news in Hindi. Follow us on Google news for latest Hindi News and International news updates.

google news

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...