Untitled 5 copy 19

बीजिंग । चीन का कहना है कि बुधवार को रूसी नौसेना के साथ होने वाले दोनों देशों के अभ्यास का उद्देश्य सहयोग को बढ़ना है। जिनके अनौपचारिक पश्चिम विरोधी गठबंधन ने यूक्रेन पर मास्को के हमले के बाद ताकत हासिल की है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की सैन्य शाखा पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के तहत चीन के ईस्टर्न थिएटर कमांड द्वारा पोस्ट किए गए एक संक्षिप्त नोटिस के अनुसार अभ्यास अगले मंगलवार तक शंघाई के दक्षिण में झेजियांग प्रांत के तट पर चलेगा।

यह संयुक्त अभ्यास समुद्री सुरक्षा खतरों का मिलकर जवाब देने के लिए दोनों पक्षों के दृढ़ संकल्प और क्षमता का प्रदर्शन करने के लिए निर्देशित है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि वारयाग मिसाइल क्रूजर मार्शल शापोशनिकोव विध्वंसक और रूस के प्रशांत बेड़े के दो जंगी जहाज युद्धाभ्यास में हिस्सा लेने वाले हैं। मंत्रालय ने कहा कि चीनी नौसेना ने अभ्यास के लिए कई युद्धपोतों और एक पनडुब्बी को तैनात करने की योजना बनाई है।