HomeMadhya Pradesh

किसान गर्जना रैली दिल्ली के लिए भारतीय किसान संघ डिण्डोरी का दल हुआ रवाना

किसान गर्जना रैली दिल्ली के लिए भारतीय किसान संघ डिण्डोरी का दल हुआ रवाना



डिण्डोरी
भारतीय किसान संघ लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य एवं अन्य मांगों को लेकर 19 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में किसान गर्जना रैली करने जा रहा है। इस रैली में देश भर से दो लाख किसान जुटेंगे। किसान गर्जना रैली में मध्यप्रदेश से सभी जिलों से हजारों की संख्या में किसान बसों एवं ट्रेनों से दिल्ली जा रहे हैं।

देश में स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव चल रहा है, देश में जब खाद्यान की समस्या थी, तब स्व. प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी ने जय जवानजय किसान का नारा दिया था। वह भी काफी वर्ष हो गये, आज भी किसानों ने सभी आदानों को एम.आर.पी. में खरीदता तो है लेकिन बेचने के समय एम.एस.पी. की बात चलती है।

स्वतंत्रता के 75 वर्षों के बाद किसान आज भी इंतजार में है कि उनकों कब न्याय मिलेगा। कम से कम ‘‘लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य’’ तो उनको मिलें। वह तो नही मिलता है इसके उपर सभी आदानों के उपर जी.एस.टी. की मार भी अलग से है। जी.एस.टी. कानून के अंतर्गत सभी उत्पादकों को इनपुट क्रेडिट मिलता है सिवाय किसानों को छोड़कर।

यद्पि सरकार ने किसान सम्मान निधि का एक अच्छा कदम सही दिशा में अपर्याप्त कदम था, फिर भी किसानों ने उसका खुले दिल से स्वागत किया। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि किसानों के लिए एक छोटा सा बड़ा कदम है। मगर ये वर्ष 2019 की किसान सम्मान निधि 6,000 रू. प्रति वर्ष आज की स्थिति में, सारे आदानों मे मूल्य वृद्वि के कारण बहुत ही कम लगता है।

सरकार किसान के हित में सोचकर खाद में सब्सीडी तो देती है लेकिन ये अधिकतर किसान के हित में न होकर कम्पनियों के हित में है। हाल ही में पर्यावरण मंत्रालय ने जी.एम. सरसों को अनुमति दे दिया है। इधर प्रधानमंत्री जी ने प्राकृतिक खेती की बात करते है, जैव विविधत्ता की बात करते है, मधुमक्खी पालन की बात करते है, पंचमहाभूत के संरक्षण की बात करते है, उधर पर्यावरण मंत्रालय ने इन सभी के एकदम विपरित जी.एम. फसलों की तरफदारी कर रहे है। ऐसे ही हर क्षेत्र को पानी के लिए नदी जोड़ने की घोषणा तो हुई है लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ दिख नही रहा है।

इसलिए भारतीय किसान संघ ने आगामी 19 दिसंबर 2022 को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल किसान गर्जना रैली का आयोजन कर रहा है। देश के सभी प्रांतों से करीब 560 जिलों से प्रतिनिधि आने वाले है, कई प्रतिनिधि अपनेअपने स्थानों से साईकिल रैली, मोटरसाईकिल रैली, जन सभाऐं, नुकड़ सभाऐं, पत्रकार वार्ताऐं करते हुए निकल पड़े है।

अच्छी बात हैै कि सभी पत्रकार बंधु ने इस जनजागरण का पर्याप्त साथ दिया है।
हमारी मांगे मुख्यतः निम्न है –

1.    लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य किसानों को मिलें।
2.    किसान सम्मान निधि में आदानों की दर वृद्वि के अनुपात में वृद्वि हो।
3.    कृषि आदानों को जी.एस.टी. मुक्त करें।
4.    जी.एम. फसलों की अनुमति को तुरंत वापस लें।

इन सभी मांगों को लेकर दिल्ली में आयोजित होने वाली किसान गर्जना रैली में भारतीय किसान संघ डिण्डोरी जिलाध्यक्ष बिहारीलाल साहू के नेतृत्व में किसान संघ का दल आज दिल्ली के लिए रवाना हुआ इस बीच भारतीय किसान संघ जिलामंत्री अधिवक्ता निर्मल कुमार साहू, जिला सदस्य उदय सिंह मरावी, तहसील शहपुरा उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार साहू, मिडिया प्रभारी बसंत कुमार उद्ददे, ग्राम अध्यक्ष राजेन्द्र मारावी, विकासखंड मेंहदवानी अध्यक्ष चिरौंजी लाल चंद्रोल, कोषाध्यक्ष खूबचंद साहू, बाजाग कोषाध्यक्ष सुभाष कुर्चाम, ग्राम अध्यक्ष उमरिया अरविंद कुमार भवानी सहित अन्य किसान है ।



Get all latest News in Hindi (हिंदी समाचार) related to politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and MP news in Hindi. Follow us on Google news for latest Hindi News and National news updates.

google news

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...