HomeMadhya Pradesh

शिवरात्रि पर भगवान भोलेनाथ एवं माता पार्वती का विवाह संस्कार होगा आयोजित …उमापति महादेव मंदिर में संपन्न होगें वैेवाहिक कार्यक्रम

शिवरात्रि पर भगवान भोलेनाथ एवं माता पार्वती का विवाह संस्कार होगा आयोजित …उमापति महादेव मंदिर में संपन्न होगें वैेवाहिक कार्यक्रम


झाबुआ । भगवान श्री ओढरधानी शिवजी का विवाह संस्कार पूरी श्रद्धा एवं भक्ति के साथ विवेकानंद कालोनी स्थित श्री उमापति महादेव मंदिर में शिवप्रिया महिला मंडल द्वारा धुमधाम से मनाये जाने की पूरी तैयारिया करली गई है । शिवप्रिया महिला मंडल की रूकमणी वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि भगवान शिवजी एवं माता पार्वतीजी के मंगल परिणय के अनुष्ठान श्रद्धा एवं भक्ति के साथ मनाये जाने के लिये 9 दिवसीय कार्यक्रम तय किये जाकर इसके लिये पत्रिका भी नगरवासियों को वितरित की जारही है। भगवान भोलेनाथ एवं महामाया पार्वतीजी के मंगल परिणय को प्रतिकात्म रूप सम्पन्न किया जावेगा । उमापति मंदिर के ज्योतिषाचार्य पण्डित द्विजेन्द्र व्यास के मार्गदर्शन में 21 फरवरी सोमवार को लघुरूद्राभिषेक सम्पन्न हुआ, 22 फरवरी को मंगलवार को महादेव मंगल श्रृंगार किया गया । 23 फरवरी बुधवार को भगवार श्री भोलेनाथजी एवं माता पार्वती की अष्ठधातु निर्मित दोनो प्रतिमाओं की पूजा शास्त्रोक्त मंत्रों द्वारा करवाई गई । इस अवसर पर शिवप्रिया मंहिला मंडल एवं उमापति महादेव महिला मंडल की महिलाओं द्वारा भगवान शिवजी एवं माता पार्वतीजी की नव प्रतिमाओं की स्थापना कर उनका आकर्षक श्रृंगार किया गया । इस अवसर पर महिला मंडल की सदस्याओं ने भगवान भोलेनाथ के भजनों की प्रस्तुति देकर पूरे वातावरण को शिवमय कर दिया । सुश्री रूकमणी वर्मा ने बताया कि पण्डित द्विजेन्द्र व्यास के मार्गदर्शन में विद्वान पण्डितों द्वारा शास्त्रोक्त मंत्रों के साथ भगवान भोलेनाथ का माता पार्वती के साथ विवाह संस्कार संपन्न करवाया जावेगा । 25 फरवरी शुक्रवार को सायंकाल 4 बजे गणेश पूजन एवं भगवान श्री सत्यनारायण की कथा एवं लोकगीत का कार्यक्रम होगा । 26 फरवरी को माताजी का पूजन प्रातः 9 बजे होगा तथा सायंकाल 4 बजे भजन कीर्तन उमापति महादेव महिला मंडल द्वारा किया जावेगा। 27 फरवरी रविवार को दोपहर 1 बजे मंदिर में मंडप एवं गृह शांति हवन एवं हल्दी मेंहदी का आयोजन होगा, 28 फरवरी सोमवार को सायंकाल 7 बजे से महिला संगीत तथा 1 मार्च मंगलवार को वर निकासी 4-30 बजे होगी तथा नगर के मुख्यमार्गो पर भगवान की बारात निकाली जायेगी एवं गोधुली बेला मे शुभ लग्न संपन्न होगें । शिवप्रिया महिला मंडल एवं उमापति महादेव महिला मंडल ने नगर की धर्मप्राण जनता से शिवरात्री के पावन अवसर पर भगवान शिवजी एवं पार्वतीजी के विवाह समारोह में शामील होने की अपील की है तािा धर्मलाभ लेने का अनुरोध किया है। पण्डित द्विजेन्द्र व्यास ने बताया कि हमारे धर्म शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि महाशिवरात्रि का व्रत करने वाले साधक को मोक्ष की प्राप्ति होती है। जगत में रहते हुए मनुष्य का कल्याण करने वाला व्रत है महाशिवरात्रि। इस व्रत को रखने से साधक के सभी दुखों, पीड़ाओं का अंत तो होता ही है साथ ही मनोकामनाएं भी पूर्ण होती है। इसी क्रम मे उमापति महादेव मंदिर पर 1 मार्च को भगवान शिवजी एवं माता पार्वती के विवाह परिणयोत्सव का नगर की जनता अधिक से अधिक लाभ लेवें ।

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...