HomeGeneral knowledge

जानिए भारत के कृषि उत्पादन के बारे में

जानिए भारत के कृषि उत्पादन के बारे में


भारत कृषि प्रधान देश है। कृषि हमारे देश की अर्थव्यवस्था की आधारशिला है। हमारी 65 प्रतिशत श्रम शक्ति कृषि से ही आजीविका कमाती है। देश की कुल राष्ट्रीय आय का 27 प्रतिशत कृषि से ही प्राप्त होता है। 13 करोड़ से भी अधिक पशुओं को चारा कृषि से ही प्राप्त होता है। कृषि अनेक उद्योग धंधों को कच्चा माल प्रदान करती है। औद्योगिक फसलों में कपास, पटसन, गन्ना, रबड़, तंबाकू एवं तिलहन महत्वपूर्ण स्थान रखते है।

भारत में अनाजों का उत्पादन

चावल 

विश्व का 29 प्रतिशत चावल क्षेत्र भारत में ही है। भारत की कुल राष्ट्रीय कृषि भूमि के 23 प्रतिशत भाग पर चावल बोया जाता है। 150 से.मी. से अधिक वर्षा वाले इलाकों में चावल लोगों का मुख्य आधार है।उत्पादन- भारत में चावल का उत्पादन निरंतर बढ रहा है यद्यपि हमारे देश में चावल की कृषि में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। फिर भी हम अन्य देशों की तुलना में काफी पिछड़े हुए है। भारत में चावल की प्रति हेक्टेयर उपज केवल 1990 किलोग्राम है जबकि रूस में 2630, चीन में 3600, अमरीका में 4770, जापान में 6220 तथा कोरिया में 6670 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर चावल प्राप्त किया जाता है।भारत का अधिकांश चावल डेल्टाई तथा तटीय भागों में होता है। इसके अतिरिक्त इसकी कृषि दक्षिणी पठार के कुछ भागों में भी की जाती है। हिमालय पर्वत की निचली घाटियों में सीढ़ीनुमा खेत बनाकर चावल की खेती की जाती है। मुख्य उत्पादक राज्य पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश आंध्र प्रदेश, बिहार, पंजाब, ओडिशा, कर्नाटक, असम, केरल, महाराष्ट्र आदि हैं। पश्चिम बंगाल, असम, बिहार, उड़ीसा तथा तमिलनाडु में वर्षा में कहीं-कहीं चावल की तीन-तीन फसलें उगाई जाती हैं।

गेहूं

गेहूं की कृषि मुख्यतः पंजाब, हरियाणा तथा पश्चिमी‌‌ उत्तर प्रदेश में की जाती है। राजस्थान और गुजरात के कुछ चयनित क्षेत्रों में भी इसकी कृषि की जाती है। देश के कुल गेहूं उत्पादन का लगभग दो तिहाई भाग पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में प्राप्त होता है। गेहूं के उत्पादक क्षेत्र को भी अब काफी बढ़ा दिया गया है। विशेष तौर पर बिहार और पश्चिम बंगाल जैसे गैर परम्परागत क्षेत्रों तक। मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में भी गेहूं की खेती पर्याप्त क्षेत्र में की जाती है। बिहार और पश्चिम बंगाल दोनों मिलकर देश में गेहूं के कुल उत्पादन का 8 प्रतिशत भाग उत्पन्न करते हैं। पश्चिम बंगाल में गेहूं की उपज प्रति हेक्टेयर बहुत अधिक है।

ज्वार

इसका प्रति हेक्टेयर उत्पादन 852 किलोग्राम है। सामान्यतः ज्वार भारत की 16 प्रतिशत कृषि भूमि पर उगाई जाती है और इससे भारत का 10 प्रतिशत खाद्यान्न उपलब्ध होता है। भारत की 75 प्रतिशत ज्वार पठारी भागों में उत्पन्न की जाती है। मुख्य उत्पादक राज्य महाराष्ट्र है जो भारत की 51 प्रतिशत ज्वार पैदा करता है। अन्य उत्पादक राज्य कर्नाटक, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, उत्तर प्रदेश, राजस्थान तथा पंजाब है।

बाजरा

यह हमारी कुल कृषि भूमि के 7 प्रतिशत भाग पर उगाया जाता है। प्रमुख उत्पादक राज्य गुजरात (24 प्रतिशत), राजस्थान (20 प्रतिशत), उत्तर प्रदेश (13 प्रतिशत), महाराष्ट्र (10 प्रतिशत) है। इनके अतिरिक्त आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, हरियाणा, पंजाब तथा मध्य प्रदेश में भी बाजरे की पैदावार होती है।

मक्का

पूर्वी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब तथा जम्मू-कश्मीर व हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाकों में मक्का की खेती की जाती है। दक्षिण भारत में कर्नाटक, आंध्र प्रदेश तथा मध्य प्रदेश में भी मक्के का उत्पादन किया जाता है।

जौ

यह देश की कुल कृषि भूमि के केवल 2 प्रतिशत भाग पर ही उगाई जाती है। लगभग 45 प्रतिशत जौ उत्तर प्रदेश में बोया जाता है। उसके बाद राजस्थान का स्थान है जो देश का 30 प्रतिशत जौ पैदा करता है। इसके अतिरिक्त मध्य प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर तथा पश्चिम बंगाल में भी जौ की खेती की जाती है।

भारत में फलोत्पादन

आम

उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, हरियाणा, पंजाब, ओड़िशा।

अंगूर

हरियाणा, महाराष्ट्र, कर्नाटक व तमिलनाडु।

केला

महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, गुजरात।

अमरूद

उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान।

अनन्नास

तमिलनाडु

अनार

पंजाब, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, राजस्थान। 

नाशपाती

हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, कर्नाटक (नीलगिरि और बेंगलुरू)।

सेब

हिमाचल प्रदेश

अंजीर

राजस्थान, उत्तर प्रदेश व पंजाब।

लीची

उत्तराखण्ड (देहरादून), उत्तर प्रदेश (सहारनपुर व मेरठ), पंजाब (गुरदासपुर), बिहार (चंपारण, मुजफ्फरपुर)।

किन्नू

पंजाब और राजस्थान।

नारंगी

हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान।

मौसमी

आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र।

भारत में मसालों का उत्पादन

काली मिर्च

केरल तथा तमिलनाडु।

लाल मिर्च

आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, बिहार।

छोटी इलायची

केरल, कर्नाटक व तमिलनाडु।

हल्दी

आंध्र प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु व महाराष्ट्र

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...