16 9

सिडनी । ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने कहा है कि उनके लिए टेस्ट क्रिकेट सबसे ऊपर है। ऐसे में वह अपने टेस्ट करियर को आगे बढ़ाने के लिए अगले चरण में सीमित ओवरों के प्रारुप को अलविदा कह सकते हैं। स्टार्क उन 6 खिलाड़ियों में से हैं जो ऑस्ट्रेलिया के लिए सभी प्रारुपों में खेलते हैं। स्टार्क ने कहा ‘टेस्ट हमेशा टॉप पर रहेगा। यह फॉर्मेट सीमित ओवरों  के फॉर्मेट से काफी ऊपर है.’ स्टार्क के टीम की 2023 वर्ल्ड कप योजनाओं में अहम भूमिका निभाने की उम्मीद है। उन्होंने वेस्टइंडीज और अमेरिका में होने वाले 2024 टी20 वर्ल्ड कप में खेलने की इच्छा का भी संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि मैं बाकी चीजों के बारे में बाद में फैसला करूंगा। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि मेरा शरीर कैसा महसूस करता है. खेलना मुझे पसंद है और अगर लय सही रही और टीम में चयन हुआ तो मैं टेस्ट क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा। इस अनुभवी गेंदबाज ने कहा कि आज के दौर के व्यस्त कार्यक्रम के कारण किसी खिलाड़ी के लिए तीनों फॉर्मेट में खेलना असंभव की तरह है। उन्होंने कहा कि तीनों फॉर्मेट के खिलाड़ी के रूप में हर मैच को खेलना इस समय लगभग असंभव है. अपने वर्कलोड मैनेजमेंट को बनाए रखने के लिए स्टार्क ने 2015 से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग लेना छोड़ दिया है। 32 साल के स्टार्क ने अब तक 71 टेस्ट में 287 विकेट लिए हैं। उन्होंने 107 वनडे में 211 विकेट झटके हैं जबकि 58 टी20  में उनके नाम 73 विकेट हैं।