HomeOpinion

अच्छा एजुकेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर ही बना सकता है मध्य प्रदेश को एजूकेशन हब

अच्छा एजुकेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर ही बना सकता है मध्य प्रदेश को एजूकेशन हब



मध्यप्रदेश भारत का हृदय है और पूरे देश में यहां की संस्कृति एक आकर्षण का केंद्र है , कल्चर के साथ साथ प्रदेश में कृषि , टेक्नोलॉजी और व्यापार में भी काफी इज़ाफा देखने को मिला है लेकिन प्रदेश को अब चहिए की वह शिक्षा का केंद्र भी बने और वह तभी संभव है जब एक अच्छा एजुकेशन मॉडल सामने आएगा जिसमे पठन पाठन के साथ एक अच्छा इंफ्रास्ट्रक्चर भी शामिल होगा । नई शिक्षा नीति 2020 के तहत बहुत ही सकारात्मक बदलाव हमारे शिक्षा जगत में देखने को मिलेंगे जिसमे ज्ञान के साथ संस्कृति की शिक्षा भी दी जाएगी , वैसे देखा जाए तो मध्य प्रदेश में भी अनेकों विद्यालय , महाविधालय और विश्वविद्यालय है जो निरंतर शिक्षा के क्षेत्र में अपनी अहम भूमिका निभा रहे है लेकिन जरूरी है इनका जीर्णो उद्धार हो , मध्य प्रदेश सरकार चाहे तो स्थानीय विश्वविद्यालयों को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय और दिल्ली विष्वविद्यालय की तर्ज पर पुनः स्थापित कर सकती है और विद्यालय के लिए दिल्ली के स्कूल मॉडल्स को अपनाया जा सकता है , आज के समय में प्रारंभिक शिक्षा के साथ स्किल डेवलपमेंट , पर्सनेलिटी डेवलपमेंट और सॉफ्ट स्किल्स का अहम योगदान है एक विद्यार्थी के संपूर्ण विकास के लिए उसको अच्छी सुविधा देना अनिवार्य है जिसमे स्किल ट्रेनिंग , प्रैक्टिकल लर्निंग , ई – लर्निंग और बेहतरीन शिक्षक शामिल है और विद्यार्थियों के लिए भी यह जरूरी है की वह सिर्फ किताबी शिक्षा तक सिमट कर ना रह जाए अपितु प्रायोगिक शिक्षा और सेल्फ डेवलपमेंट पर भी फोकस करें अंतः यही कहूंगा की जैसे संस्कृति और कृषि में प्रदेश ने आकर्षण बनाया है ठीक उसी तरह शिक्षा में भी यह देश के आकर्षण का केंद्र बने ।


लेखक
प्रो .पर्व परमार
प्रेरक वक्ता एवं शिक्षाविद्


google news

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...