HomeMadhya Pradesh

ग्राम पंचायत परवट जनपद पंचायत झाबुआ सरपंच एवं पंच महिला निर्विरोध निर्वाचन चुने जाने पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा घोषणा सह प्रमाण पत्र प्रदान किया

ग्राम पंचायत परवट जनपद पंचायत झाबुआ सरपंच एवं पंच महिला निर्विरोध निर्वाचन चुने जाने पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा घोषणा सह प्रमाण पत्र प्रदान किया

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन आज प्रातः झाबुआ जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत परवट पहुंचे। यहां पर सरपंच एवं पंच महिला निर्विरोध निर्वाचित हुए है। श्री मिश्रा के द्वारा सरपंच श्रीमती रमिला शंकर भूरिया एवं 12 महिला पंच जो निर्विरोध चुनी गई है जिन्हें राज्य निर्वाचन आयोग की औेर से प्रारूप 24 निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा सह प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। श्री मिश्रा के द्वारा पुष्पगुच्छ से सरपंच महोदया का अभिनंदन किया गया। यहां पर मॉ सरस्वती के चित्र पर पुष्पहार एवं दीप प्रज्जवलन श्री मिश्रा एवं सीईओ जिला पंचायत और सरपंच महोदया के द्वारा किया गया।
झाबुआ जिले में साक्षर अभियान का तीसरा चरण ग्राम पंचायत परवट से प्रारंभ किया गया। झाबुआ जिले की एकमात्र पंचायत निर्विरोध चुनी गई । वहां के सभी पंच सरपंच निर्विरोध चुने गए हैं। आज सै ही जिले में स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ किया गया। साक्षरता अभियान के तहत जिले में अ अक्षर अभियान का तीसरा चरण शुरू किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर सोमेस मिश्रा द्वारा शिक्षा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया साथ ही ग्राम पंचायत परवट के सरपंच एवं पंचों का स्वागत किया गया। स्कूल में अध्ययनरत बच्चे एवं नवीन प्रवेश बच्चों को पुस्तकें वितरित की गई तथा साक्षरता कक्षा का शुभारंभ किया गया। साक्षरता के लिए वॉलिंटियर श्रीमती राधा भाबोर ने सभी पंचों को पढ़ाने की जिम्मेदारी ली। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत मूल्य आधारित शिक्षा एवं शिक्षा संस्कार पर जोर दिया गया है। जिसमें बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के साथ ही साथ उनके संस्कारों पर भी जोर दिया गया है। जिले में साक्षरता अभियान का तीसरा चरण शुरू करते हुए कलेक्टर द्वारा अवगत कराया गया कि पूर्व में चलाए गए दोनों चरणों में अच्छी उपलब्धि प्राप्त हुई है। उसी तर्ज पर तीसरा चरण प्रारंभ किया है।इस विशेष रुप से पच सरपंच को साक्षर करना प्राथमिकता रहेगी। यह लक्ष्य रखा गया है कि जिले के सभी ग्रामों में ज्यादा से ज्यादा कक्षाएं संचालित कर निरक्षर को साक्षर किया जावेगा। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री एल.एन.गर्ग, तहसीलदार झाबुआ श्री आशिष राठौर, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री रालूसिंह सिंगार, जिला समन्वयक साक्षरता श्री जगदीश सिसोदिया आदि उपस्थित थे।

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...