HomeMadhya Pradesh

बरगवाँ मे पुलिया नहीं तो मतदान नहीं- ग्रमीणों ने कलेक्टर को सौपा ज्ञापन

<em>बरगवाँ मे पुलिया नहीं तो मतदान नहीं- ग्रमीणों ने कलेक्टर को सौपा ज्ञापन</em>


जिला पंचायत वार्ड क्र 07 के प्रत्याशी रिंकू रामजी मिश्रा अपना प्रचार छोड़ ग्रामीणों की समस्या लेकर पहुचे अपर कलेक्टर के पास

अनुपपुर बिलाल अहमद

अनूपपुर जिले के जनपद कोतमा अंतर्गत ग्राम पंचायत बगैहाटोला के ग्रामवासियों ने कलेक्टर अनूपपुर को ज्ञापन सौंपकर बताया है कि पिछले वर्ष जोगीटोला पिपरिया बाँध में अधिक पानी का भराव होने से बगैहाटोला से बरगवाँ मार्ग 2 माह के लिए आवागमन अवरुद्ध हो गया था। इस वर्ष जल संसाधन विभाग के अधिकारियों की शिकायत व पुल मॉग किए जाने पर पुल का नव निर्माण करने हेतु राशि स्वीकृत कर दी गई है। लगभग थोड़ा बहुत कार्य भी चालू हो चुका है परन्तु एक माह से पूर्ण निर्माण कार्य बंद है।ऐसी स्थिति में हम ग्रामवासियों का कोतमा मजदूरी करने आना जाना संभव नहीं हो पा रहा है। ऐसी स्थिति में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का ग्राम पंचायत बगैहाटोला, बरगवां, डोंगरा टोला एवं बाबा टोला के ग्राम वासी चुनाव का बहिष्कार करते हुए मतदान नही करेगें। ग्राम वासियों ने एस•डी•एम• कोतमा,कलेक्टर अनूपपुर,अपर कलेक्टर,जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री को ज्ञापन देकर निवेदन किया है कि बरसात होने के पूर्व इस विषय पर गभ्भीरता पूर्वक जॉच कराते हुऐ तत्काल नव निर्माण पुल का कार्य शीघ्रता से कराये जाने का कष्ट करे जिससे हम मजदूरो का आवागमन सुचारू रूप से संचालित रहे एवं समस्त ग्रामवासी अपने मतदान का प्रयोग कर सकें बताया गया है कि जिले के तहसील कोतमा अंतर्गत ग्राम बरगवां, बगैहाटोला, बाबा टोला,रेउला,बेलियाबडी के हजारों ग्रामीण जनों का कोतमा, अनूपपुर, बिजुरी आने जाने का संपर्क टूट चुका है। जिसे लेकर क्षेत्र के ग्रामीण जनों ने जल संसाधन विभाग, स्थानीय प्रशासन एवं जिला प्रशासन के खिलाफ भारी नाराजगी बनी हुई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक जल संसाधन विभाग द्वारा पिपरिया बेलिया बड़ी में विगत 3 वर्ष पूर्व बाँध का निर्माण कराया गया था जिसमे पूरा पानी भर जाने के कारण बरगवा मार्ग का पुल डूब जाता है। जल संसाधन विभाग द्वारा छोटे फूल को ऊंचा किए जाने का कार्य विगत 3 माह से चल रहा है निर्माण कार्यआधा अधूरा है जिसके चलते पुल पानी में डूब गया आधा अधूरा निर्माण होने के चलते आवागमन अवरुद्ध है।इस क्षेत्र से कोतमा की दूरी लगभग 5 किलोमीटर है लेकिन जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री जगमोहन माझी की लापरवाही के चलते लोगों को अब 15 किलोमीटर का फेरी लगाकर शहरी क्षेत्र में आना पड़ता है ।इस संकट को गंभीरता से देखते हुए उपरोक्त क्षेत्र के लोगों ने आपस में फैसला किया है कि अगर 15 दिवस के अंदर पुल का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हुआ,आवागमन प्रारंभ नहीं किया गया तो आगामी होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में हम हजारों ग्रामीण जन मतदान नहीं करेंगे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बहिष्कार कर जल शासन जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री जगमोहन माँझी की उदासीनता के खिलाफ आंदोलन कर सडकों पर उतरेगें।

ग्रामीणों की समस्या की खबर जैसे ही जिला पंचायत के वार्ड क्रमांक सात से प्रत्याशी राम जी रिंकू मिश्रा को लगी तुरंत अपने प्रचार प्रसार को छोड़कर ग्रामीणों को लेकर अपर कलेक्टर श्री सरवन सिंह के कार्यालय पहुंचे ज्ञापन देकर समस्या से अवगत कराया ! इस अवसर पर भीमसेन यादव,पन्कज द्विवेदी,अजय गुप्ता,अलोक यादव सहित अन्य ग्रामीण जन उपस्थित थे।

IMG 20220621 WA0008

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...
Enable Notifications    OK No thanks