HomeMadhya Pradesh

समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित…. 1 मार्च से 5 मार्च तक सघन वृक्षारोपण करें -कलेक्टर

समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित…. 1 मार्च से 5 मार्च तक सघन वृक्षारोपण करें -कलेक्टर


झाबुआ। कलेक्टर सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में समयावधि पत्र (टीएल) की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर महोदय द्वारा बैठक में निर्देश दिए की शासन की मंशानुसार बडे स्तर पर 1 मार्च से 5 मार्च तक सघन वृक्षारोपण किया जाएगा। जिसमें शासकीय भवनों, धार्मिक स्थलों, सड़कों के आस-पास सघन वृक्षारोपण किया जाए। धार्मिक स्थलों को व्यवस्थित कर पर्यटन के रूप में भी विकसित करें। विभागीय जांच के प्रकरणों में अत्यधिक विलंब न हो, इस हेतु अधिकतम 2 माह में जांच पूर्ण करे। अन्यथा जांच अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। अ से अक्षर अभियान द्वितीय फेस की मानिटरिंग सतत करें। 4 मार्च को दोपहर 4 बजे इस हेतु बैठक आयोजित की जावे। मंदिरों के जिर्णोधार हेतु राशि जो प्राप्त हुई है। उससे धार्मिक स्थलों को विकसित करें। पल्स पोलियो अभियान में शतप्रतिशत बच्चों को दवा पिलाई जाए। जो बच्चे छुट गए हैं उन्हें चिन्हाकित कर घर-घर जाकर दवा पिलाए। सीएम हेल्पलाइन एवं समाधान के प्रकरणों का सन्तुष्ठि पूर्वक निराकरण करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो। प्रकरण के लंबित होने पर नियमानुसार दण्डात्मक कार्यवाही जुर्माना लगाया जाएगा। कलेक्टर कान्फ्रेंस के निर्धारित बिन्दुओं पर तत्काल कार्यवाही कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करें। सीएम हेल्पलाईन के यदि 500 दिवस से उपर एवं 300 दिवस एवं 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करे। लंबित प्रकरणों की जानकारी भी अनिवार्य रूप से लावे एवं प्रतिवेदन को पोर्टल पर दर्ज करे। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों में पूर्ण गम्भीरता का पालन करते हुए एल-1 पर ही सात दिवस के अंदर निराकरण किये जाने के निर्देश दिए गए। आगंनवाडी केन्द्रो को जिन विभाग के अधिकारियों के द्वारा गोद लिया गया है वहां पर बच्चों के पोषण का विशेष ध्यान रखें। जिले के सभी स्कूलों में आंगनवाडी केन्द्रों पर सुरजने का पौधा अनिवार्य रूप से लगाए। भू-माफिया, शराब माफिया एवं मिलावट खोरों, खनिज माफिया के लिए निरंतर छापामार कार्यवाही की जावे। फसलों को किसान के आधार से लिंक करवाए। जिससे किसानों को अपनी फसल को बचने में सुविधा हो यह कार्य गिरधावर एवं पटवारी प्रथम प्राथमिकता से करें। यह उनकी व्यक्तिगत जवाबदारी है। दतिया मॉडल पर कार्यवाही सुनिश्चित करें। कड़कनाथ मुर्गो की आनलाइन खरीदी का पोर्टल व्यवस्थित करें। केवीके से सम्पर्क करें। इसमें वेंडर को भी जोडे एवं डिस्टीबुटर से भी समन्वय करें। बैठक में पोषण पुर्नवास केन्द्र (एन.आर.सी.) पर बच्चों की भर्ती शतप्रतिशत हो जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग इसकी सतत समीक्षा करें एवं जिला अधिकारी भी अपने भ्रमण के दौरान इन एन.आर.सी. सेंटर का अवलोकन करें। बच्चों की माता को भी उचित पोषण आहार उपलब्ध हो, ऐसी सुविधा सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही होने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। बैठक में कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देश दिये कि जो डॉक्टर जिस विधा का है वहीं ईलाज करे इस सम्बध में अनुविभागिय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार एवं संबधित बी एम ओ तत्काल कार्यवाही करें अनुचित होने पर तत्काल एफ आई आर दर्ज करें। अ से अक्षर अभियान की प्रतिदिन मानिटरिंग अनुविभागिय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार अपने भ्रमण के दौरान अनिवार्य रूप से करे। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर जे.एस.बघेल, डिप्टी कलेक्टर अभय सिंह खराडी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ, एल.एन.गर्ग, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी दिनेश वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर एवं जिला अधिकारी उपस्थित थे। वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद शिशिर गेमावत, मेघनगर श्रीमति अंकिता प्रजापति, थांदला अनिल भाना, समस्त मुख्य कार्यापालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं जिले के समस्त तहसीलदार जुडे थे।

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...