HomeIndia

हैवान बना आशिक प्रेमिका के 35 टुकड़े किए, रोज रात 2 बजे निकलता था अलग-अलग जगहों पर फेंकने

हैवान बना आशिक प्रेमिका के 35 टुकड़े किए, रोज रात 2 बजे निकलता था अलग-अलग जगहों पर फेंकने




नईदिल्ली
मोहब्बत में जान देने के कई किस्से सुने होंगे लेकिन एक प्रेमी अपनी प्रेमिका की ऐसी हत्या करता है जिसे सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। राजधानी दिल्ली में 6 महीने पहले हुई हत्या का खुलासा दिल्ली पुलिस ने किया है। इस हत्या की कहानी जानकर पुलिस ही नहीं आम लोग भी हैरान हैं। आफताब और श्रद्धा की दोस्ती मुंबई के एक कॉल सेंटर में हुई, दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में तब्दील हुई। इन दोनों के परिवारवालों को जब इसकी खबर लगी तो यह दोनों भागकर दिल्ली आ गए।

श्रद्धा दिल्ली चली आई लेकिन उसके परिवार वाले उसकी खबर सोशल मीडिया के जरिए लेते रहे लेकिन जब वहां अपडेट आना बंद हुआ तब लड़की के पिता दिल्ली आए। बेटी के नहीं मिलने पर उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस को लड़की के पिता ने बताया कि उसकी बेटी कॉल सेंटर में काम करती थी और यहां इसकी दोस्ती आफताब से हुई। आफताब के साथ वह दिल्ली आ गई और छतरपुर इलाके में रहने लगे।

बेटी को खोजने पहुंचे पिता को लगा झटका

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो 59 साल के विकास मदान वाकर ने 8 नवंबर को अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दर्ज कराई थी। वो मुंबई से दिल्ली आकर महरौली थाने में बेटी के गुमशुदगी का केस दर्ज कराया था। विकास मदान ने बताया कि वो परिवार के साथ मुंबई के पालघर में रहते हैं। बेटी श्रद्धा एक लड़के आफताब के साथ रहने लगी थी। घर में जब विरोध हुआ तो वो मुंबई छोड़ दी। बात में पता चला कि वो दिल्ली के महरौली में रह रही है। इसका बाद किसी ना किसी के जरिए उसकी जानकारी मिलती थी। लेकिन कुछ महीने से उसके बारे में कोई अता-पता नहीं चला। फिर उसके नंबर पर कॉल किया गया। जब कोई संपर्क नहीं हुआ तो उसके छतरपुर स्थित फ्लैट पर पहुंचे। लेकिन वहां ताला लगा था। जिसके बाद वो थाने पहुंचे। लेकिन उनकी बेटी उनसे बहुत दूर जा चुकी है।

दिल्ली पुलिस ने आफताब की तलाश करने लगी। पुलिस को जो इनपुट मिला उसके आधार पर आफताब को पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि श्रद्धा उसपर लगातार शादी का दबाव बना रही थी जिससे उनके बीच झगड़ा शुरू हो गया। उसने मई के महीने में हत्या कर शव के टुकड़े कर कई जगहों पर फेंक दिया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक उसने गला घोंटकर हत्या की और आरी से उसके 35 टुकड़े कर डाले। आफताब एक बड़ा फ्रिज खरीदकर ले आया और वह 18 दिनों तक शव के टुकड़े बाहर ले जाकर फेंकता रहा। वह रात के 2 बजे घर से निकलता था।

होटल में शेफ का काम करता था आफताब

आफताब को लेकर कहा जा रहा है कि वह दिल्ली की एक नामी होटल में शेफ का काम करता था। शव के टुकड़े करने के लिए वो होटल से ही धारदार चाकू लेकर आया था। अब पुलिस ने पूरे मामले की पड़ताल तेज कर दी है। माना जा रहा है कि आफताब से पूछताछ के दौरान कई खुलासे हो सकते हैं।

 



Get all latest News in Hindi (हिंदी समाचार) related to politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and MP news in Hindi. Follow us on Google news for latest Hindi News and National news updates.

google news

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...