HomeBusiness

Wipro ने निकाले 300 कर्मचारी, कंपनी ने बताई यह बड़ी वजह

Wipro ने निकाले 300 कर्मचारी, कंपनी ने बताई यह बड़ी वजह

नई दिल्ली: सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी विप्रो लिमिटेड (Wipro Limited) ने अपने कर्मचारियों पर बड़ी कार्रवाई की है। कंपनी ने अपने 300 कर्मचारियों को निकाल दिया है। दरअसल, वह कंपनी में रहते हुए अपने प्रतिद्वंदियों के लिए काम करते पाए गए। विप्रो के चेयरमैन ऋषद प्रेमजी (Rishad Premji) ने बुधवार को कहा कि कंपनी ने पाया कि उसके 300 कर्मचारियों ने एक ही समय में उसके एक प्रतियोगी के साथ काम किया था और ऐसे मामलों में उनकी सेवाओं को समाप्त करके कार्रवाई की गई है। वह ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (एआईएमए ) में राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन में बोल रहे थे।

रोजगार में ईमानदारी का उल्लंघन किया

आगे अपने संबोधन में चेयरमैन ने कहा आज विप्रो के लिए काम करने वाले कुछ ऐसे लोग हैं जो हमारे एक प्रतियोगी के लिए सीधे तौर पर काम कर रहे थे। उन्होंने कहा हमने पिछले कुछ महीनों में ऐसे 300 लोगों की खोज की और उनकी सेवाएं समाप्त कर दी। उन्होंने कहा ऐसे लोगों को उनके रोजगार में ईमानदारी के उल्लंघन करने के लिए निकाला गया।विप्रो में किसी के लिए विप्रो और प्रतियोगी XYZ के लिए काम करने के लिए कोई जगह नहीं है और अगर कोई ऐसा करता है तो उस पर नियम अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

जानें मूनलाइटिंग क्या है 

विप्रो की इस बड़ी कार्रवाई के बाद ‘मूनलाइटिंग’ (Moonlighting) का विषय बड़ा चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, जब कोई कर्मचारी अपनी नियमित नौकरी के साथ ही चोरी-छिपे दूसरी जगह भी काम करता है तो उसे तकनीकी तौर पर ‘मूनलाइटिंग’ कहा जाता है। बता दें कि विप्रो चेयरमैन ने पिछले महीने ट्विटर पर कहा था ”सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों में मूनलाइटिंग करने वाले कर्मचारियों के बारे में बहुत सारी बातें सामने आ रही हैं। यह सीधे और स्पष्ट तौर पर कंपनी के साथ धोखा है।” इस टिप्पणी के बाद एक नई बहस शुरू हो गई थी। सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी इन्फोसिस ने कंपनी में नौकरी के साथ अन्य कार्य करने वाले कर्मचारियों को अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतवानी दी थी।

Get Business News in Hindi, share market (Stock Market), investment scheme and other breaking news on related to Business News, India news and much more on Nishpaksh Mat. Like us on Facebook, Follow us on Twitter and Google news for latest business news and stock market updates.

RECOMMENDED FOR YOU

Loading...